कावड़ यात्रा 2020 को लेकर बड़ा आदेश। जानिए पूरी रिपोर्ट!

कोरोनावायरस संकट को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश की सरकार ने 6 जुलाई से शुरू होने वाली कावड़ यात्रा को स्थगित कर दिया है। तीनों राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने श्रद्धालुओं को रोकने के लिए योजना तैयार कर ली है। उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश और हरियाणा के पुलिस अधिकारियों ने बैठक कर यह तय किया है की श्रद्धालुओं को उन्हीं के इलाकों में रोक दिया जाएगा।

इसके बाद भी अगर कोई श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच जाता है तो उसे 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा और क्वॉरेंटाइन के दौरान का रहने और खाने का खर्चा उसे ही उठाना होगा। तीनों राज्यों के पुलिस द्वारा अपने-अपने बॉर्डर पर सघन चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा।

Also Read  Big breaking:- पूर्ण Lockdown का हौसला नही जुटा पा रही सरकार , पूरे देहरादून , हरिद्वार और उधमसिंहनगर जिले में 10 मई तक सख्त कोरोना कर्फ्यू

रोशनाबाद स्थित कलक्ट्रेट में बुधवार को उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर और हरियाणा के यमुनानगर, करनाल आदि के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की समन्वय बैठक हुई। हरिद्वार के जिलाधिकारी सी रविशंकर की अध्यक्षता में हुई बैठक में कांवड़ यात्रा को लेकर नागरिकों की सुरक्षा को सर्वोपरी बताते हुए यात्रा पर पूर्ण प्रतिबंध पर सहमति जताई गई।

बैठक में अधिकारियों के बीच इस बात पर सहमति बनी कि सघन चेकिंग के दौरान किसी भी जनपद से श्रद्धालुओं के समूह या दल को हरिद्वार नहीं आने दिया जाएगा। मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने सुझाव दिया कि यात्रा के दौरान अपने-अपने जनपदों के बॉर्डर पर चेकिंग को तेज किया जाएगा। आम लोगों को यात्रा स्थगित करने की सूचना देने के लिए बड़े स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाएगा। इसके बाद भी यदि कोई श्रद्धालु लॉकडाउन का उल्लंघन करता तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Also Read  RBI ने की लोन रीस्ट्रक्चरिंग 2.0 की घोषणा! 25 करोड़ रुपये तक के लोन लेने को मिलेगी सुविधा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here