ठगी से देहरादून की जनता का करोड़ों रुपया लूटने वाली चारों बहनें गिरफ्तार

लालच देकर भोली-भाली जनता का पैसा लूट कर भाग जाने वाली ठगी की वारदातें अक्सर हमारे सामने आती हैं l ऐसे ही वारदात का पर्दाफाश करते हुए पटेलनगर कोतवाली पुलिस ने किट्टी ठगी के मामले में फरार चल रहीं चार बहनों को गिरफ्तार किया है। आरोपी महिलाएं नेपाल में छिपकर रह रहीं थी।पटेलनगर कोतवाली निरीक्षक प्रदीप बिष्ट ने बताया कि 15 जून 2019 को विद्या भट्ट पत्नी पीडी भट्ट निवासी टीएचडीसी कालोनी देहराखास ने तहरीर में बताया था कि किट्टी संचालिका मिनाक्षी निवासी शिवकुंज लेन नंबर पांच केदारपुरम, उसके पिता लाल बहादुर खत्री, उसकी मां सुनीता खत्री व चार बहनें क्रमशः मनीषा, माधुरी, मोना एंव मोनिका निवासीगण इंद्रापुरी मोथेरोवाला फाइव स्टार के नाम से किट्टी संचालित करते थे।

Also Read  अन्य राज्यों से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए जारी नए दिशानिर्देश

तहरीर में यह आरोप लगाया गया था कि विद्या के पांच लाख और अन्य लोगों से करीब आठ-दस करोड़ रुपये की ठगी की गई। पुलिस ने दंपति और उसकी पांच बेटियों के खिलाफ चिट फंड अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया था।

तब से इस मामले में आरोपी मिनाक्षी, मनीषा, माधुरी, मोहिनी और मोनिका फरार चल रहीं थीं। जबकि नेहरू कालोनी पुलिस ने अपने मुकदमे में सुनीता खत्री को गिरफ्तार किया था।

Also Read  राज्यसभा में हंगामा करने वाले 8 सांसद निलंबित

पुलिस की विवेचना में सामने आया कि महिलाएं मूल रूप से नेपाल की रहने वाली थीं और नेपाल में ही छिपी थी। इस बीच पुलिस को बुधवार को सूचना मिली कि मनीषा, माधुरी, मोहिनी और मोनिका घर के आसपास देखी गईं हैं।

सूचना पर पुलिस टीम ने् एसआई मनोज भट्ट के नेतृत्व में दबिश देकर चारों बहनों को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल ने बताया कि चारों को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।बताया कि मिनाक्षी और लालबहादुर की तलाश की जा रही है।

Also Read  छोटी सी बात पर युवक ने की ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या, पूरे परिवार को मारना चाहता था युवक

कोतवाल बिष्ट ने बताया कि मिनाक्षी खत्री किट्टी के पैसों का लेनदेन केदारपुरम समेत होटलों में होता था।किट्टी की अवधि नवंबर 2018 में पूरी होने के बाद भी 2019 तक भुगतान नहीं किया। कमेटी में करीब ढाई से तीन हजार महिलाओं का पैसा फंसा था। आरोप था कि रूपये मांगने पर किट्टी संचालिका समेत अन्य बहनें अभद्रता और धमकी देती थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here