दिल्ली में कैसे पहुंची कंटेनमेंट जोन की संख्या अपने उच्चतम स्तर पर, जानिए

 

दिल्ली मे कोरोना  के मामले लगातार बढ़ने के कारण दिल्ली सरकार ने कंटेनमेंट जोन पर सख्ती से काम करना शुरू कर दिया एक वेबसाइट के मुताबिक शनिवार को कंटेनमेंट जोन की संख्या अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। एक दिन में दिल्ली सरकार ने 20 नए कंटेनमेंट जोन घोषित किए, जिससे 122 इलाके सील कर दिए गए हैं।

 

हालांकि, इस बीच तीन कंटेनमेंट जोन को डि-कंटेन भी किया गया। अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली का सबसे संवेदनशील जिला उत्तरी दिल्ली है। संक्रमण मिलने से बीते 24 घंटों में यहां तीन नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इससे इनकी संख्या 24 पार हो गई है।

Also Read  उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर, जानिए नए दिशा निर्देश

दूसरे नंबर पर दक्षिण पूर्वी जिला है, जहां 17 कंटेनमेंट जोन हैं। पश्चिमी दिल्ली जिले में शनिवार को चार नए जोन बनने से 16 इलाकों को सील किया गया है। इसके अलावा 12-12 कंटेनमेंट जोन दक्षिणी और दक्षिण पश्चिमी जिले में हैं।

सबसे कम कंटेनमेंट जोन नई दिल्ली जिले में हैं। यहां सिर्फ तीन कंटेनमेंट जोन सक्रिय हैं। अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली सरकार की सख्ती की वजह से कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ रही है।

Also Read  उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर, जानिए नए दिशा निर्देश

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निर्देश दिया है कि अगर किसी इलाके में संक्रमण के मामले मिलते हैं तो उनको सील किया जाए। इससे संक्रमण पर रोक लगाई जा सकेगी। इसी वजह से बीते दो दिनों में कंटेनमेंट जोन की संख्या तेजी से बढ़ी है।

 

48 घंटे में यह 95 कंटेनमेंट जोन से बढ़कर शनिवार को 122 हो गए। हालांकि, धीरे-धीरे पुराने इलाकों को डी-कंटेंन भी किया जा रहा है। अभी तक 53 इलाके को कंटेनमेंट जोन की सूची से बाहर किया जा चुका है।

Also Read  उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर, जानिए नए दिशा निर्देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here