Uttarakhand: कोरोना संकट के समय पहाड़ की मातृशक्ति आई सामने। एक ने दो लाख तो दूसरी ने डेढ़ लाख दिए दान।

ये उत्तराखंड की वो माताएं हैं जिनके बारे में कितनी भी किताबें लिख लें…वो ही कम हैं।

अमर शहीद की पत्नी को सलाम कीजिए..कोरोना जंग में दान दिए 2 लाख रुपये

श्रीमती दर्शना देवी रौथांण रुद्रप्रयाग जिले के रहने वाली हैं। सबसे पहले आपको ये बता दें कि श्रीमती दर्शनी देवी ने पीएम केयर फंड में 2 लाख रुपये दिए हैं। उन्होंने अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत अगस्त्यमुनि हरेंद्र चौहान के माध्यम से 2 लाख रुपये का ड्राफ्ट पीएम केयर फंड में दिया है। अब आपको बताते हैं कि आखिर दर्शनी देवी कौन हैं…इनके बारे में जानकर आपको गर्व होगा। दर्शनी देवी के पति भारतीय सेना में हवलदार पद पर तैनात थे। जी हां…उनका नाम था हवलदार कबौत्र सिंह। भारतीय सेना का वो जांबाज सिपाही 1965 में शहीद हो गया था। उस अमर जवान की पत्नी हैं दर्शनी देवी रौथांण। दर्शनी देवी रौथांण ग्राम पंचायत डोभा की रहने वाली हैं।
सिटिजन रिपोर्टर और समाजसेवी गम्भीर सिंह बिष्ट ने अपने फेसबुक पेज पर ये जानकारी दी है

Also Read  उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर, जानिए नए दिशा निर्देश

57 साल की महिला ने कोरोना पीड़ितों के लिए दिए डेढ़ लाख रुपये

बात 57 साल की कमला नेगी की करते हैं। कोरोना महामारी के चलते आर्थिक संकट से जूझ रहे देश के मौजूदा हालातों को देखते हुए कर्णप्रयाग तहसील के झिरकोटी गांव निवासी 57 वर्षीय कमला नेगी ने आज डेढ़ लाख रुपये प्रधानमंत्री केयर्स फंड में जमा कर देश हित मे नेक कार्य किया है। ये हैं 57 साल की कमला नेगी…राजकीय इंटर कालेज लंगासू में सेवारत 57 वर्षीय कमला देवी ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण देश मे कई ऐसे लोग है जो बेरोजगार हो गए हैं, जिससे उनके आगे जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है। कमला नेगी का कहना है कि ‘ऐसे लोगो की पीड़ा को देखते हुये मन में उनकी मदद करने का विचार आया।

Also Read  उत्तराखंड आने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर, जानिए नए दिशा निर्देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here