उत्तराखंड: शराब के शौकीनों को झटका.. इस दिन से दोबारा बंद हो सकती हैं शराब की दुकानें

लॉक डाउन के चलते हैं उत्तराखंड में शराब प्रेमियों को लंबे समय तक बिना शराब के रहना पड़ा था। शराब के शौकीनों के लिए एक बुरी खबर सामने आ रही है। जल्द ही बंद हो सकते हैं उत्तराखंड में शराब के ठेके। हो सकता है 25 मई के बाद शराब प्रेमियों को शराब ना मिल पाए और शराब के सभी ठेके बंद हो जाए । शराब ठेकेदारों ने 25 मई से शराब के ठेके बंद करने की चेतावनी दी है।

शराब ठेकेदार ऐसा क्यों करने जा रहे हैं ? दरअसल शराब ठेकेदार राज्य सरकार की नीतियों से खुश नहीं हैं। लॉकडाउन के चलते इन्हें वैसे ही काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इन्हें उम्मीद थी कि गुरुवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में इन्हें राहत देने के लिए बड़ा ऐलान किया जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Also Read  उत्तराखंड: खेलते खेलते बुझ गया घर का इकलौता नन्हा चिराग, घर के बाहर ही हुई मासूम की दर्दनाक मौत

कैबिनेट बैठक में ठेकेदारों के हक में फैसले नहीं लिए जाने से नाराज ठेकेदारों ने अब दुकानें बंद करने का निर्णय लिया है। ठेकेदार मार्च महीने के 9 दिनों का अधिभार माफ करने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा कोरोना टैक्स हटाने और साल 2019-2020 की मार्च में छोड़ी गई दुकानों के अवशेष स्टॉक को अनुज्ञापी द्वारा अपनी दूसरी दुकान में शिफ्ट किए जाने की अनुमति देने की मांग कर रहे हैं।

Also Read  देहरादून में सरेआम बेखौफ बदमाशों ने सर्राफ को गोली मार कर लूट को दिया अंजाम

शराब कारोबारियों ने अपनी कई मांगें आबकारी आयुक्त के सामने रखी थी।

अब कारोबारी कह रहे हैं कि सरकार ने अधिभार के अलावा उनकी किसी मांग पर ध्यान नहीं दिया। लिहाजा वो 25 मई से दुकानें नहीं खोलेंगे। वैसे आपको बता दें कि गुरुवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में राज्य सरकार ने शराब कारोबारियों को कई तरह की राहत दी है। राज्य सरकार ने पिछले वित्तीय वर्ष में 20 मार्च से 31 मार्च तक 10 दिनों तक लॉकडाउन के कारण बंद रही दुकानों का 34 करोड़ रुपये का अधिभार माफ कर दिया है।

चालू वित्तीय वर्ष में 1 अप्रैल से शराब की दुकानें आवंटित हुईं, लेकिन क्योंकि इनका संचालन नहीं हो सका। ऐसी ऐसी 504 दुकानों से 195 करोड़ रुपये का अधिभार नहीं लिए जाने का फैसला भी राज्य सरकार ने लिया है।

Also Read  उत्तराखंड: खेलते खेलते बुझ गया घर का इकलौता नन्हा चिराग, घर के बाहर ही हुई मासूम की दर्दनाक मौत

इसके अलावा जो 155 दुकानें आवंटित नहीं हुई हैं, उन्हें भी लॉटरी के माध्यम से आवंटित किया जाएगा और ठेका संचालक को छूट भी दी जाएगी। इतना कुछ होने के बाद भी शराब कारोबारियों की नाराजगी खत्म नहीं हो रही। उन्होंने सरकार से दूसरी मांगों पर भी ध्यान देने को कहा है। ऐसा ना करने पर 25 मई से शराब की दुकानों पर ताला लटकाने की चेतावनी भी दी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here