उत्तराखंड: 22 साल के विभव ने घर में ही खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, चौकाने वाला व्हाट्सएप आया सामने

उत्तराखंड के खूबसूरत शहर भीमताल से दिल को पसीज देने वाली घटना सामने आई है l यहां 22 साल के विभव जोकि बीटेक का छात्र था और भविष्य में इंजीनियर बनने वाला था, ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दीया। गुरुवार देर रात पौने तीन बजे विभव ने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को शूट कर लिया। पुलिस कह रही है कि खुदकुशी की वजह के बारे में फिलहाल ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है, हालांकि इस मामले में अब तक कई नई जानकारियां निकल कर सामने आई हैं। विभव ने खुद को गोली क्यों मारी, इसका राज उसके मोबाइल में छिपा है। पुलिस ने मोबाइल को कब्जे में ले लिया है। मामले की छानबीन जारी है। बताया जा रहा है कि विभव ने आखिरी बार अपने वॉट्सऐप पर किसी से चैट करते हुए लिखा है कि ‘मैं दिल को शूट करूं या दिमाग को’। थोड़ी देर बाद विभव लिखता है ‘मैंने फैसला लिया है कि मैं दिमाग को शूट करता हूं…’। यही विभव के आखिरी शब्द थे, जिन्हें लिखने के बाद उसने खुद के सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

Also Read  देवभूमि दुग्ध व्यापार संघ, देहरादून द्वारा मनाई गई नेताजी सुभाष जयंती

पुलिस शुरुआती तौर पर इसे प्रेम प्रसंग का मामला मानकर जांच में जुट गई है। पुलिस का कहना है कि आखिरी बार उसके वॉट्सऐप चैट में जो बातचीत सामने आई है, वो भी इसी बात की तस्दीक करती है। विभव की कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। विभव का परिवार मूलरूप से यूपी के इटावा का रहने वाला है। पिता विवेक शर्मा प्रॉपर्टी डीलिंग के साथ ही अपना गेस्ट हाउस भी चलाते हैं। गुरुवार की रात विभव अपने भाई नमन के साथ एक ही कमरे में सोया था। तभी अचानक गोली चली। गोली की आवाज से नमन चौंक कर उठ गया। उसने देखा कि उसका भाई विभव बगल में लहूलुहान पड़ा है। परिजन विभव को तुरंत अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके इस अप्रत्याशित कदम से हर कोई हैरान है। आस-पास के लोगों ने बताया कि विभव खुशमिजाज लड़का था l

Also Read  देवभूमि दुग्ध व्यापार संघ, देहरादून द्वारा मनाई गई नेताजी सुभाष जयंती

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here