Uttarakhand News: दो कोरोना पॉजिटिव को घर भेज कर वापस बुलाया। बड़ी गलती से मचा हड़कंप।

ऊधमसिंह नगर में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आयी है। यहां अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 2 कोरोना पॉजिटिव को उनके घर भेज दिया गया। मामले में डीएम ने कोविड 19 के जिला नोडल अधिकारी से जवाब तलब किया है, जांच के भी आदेश दिए गए हैं। गदरपुर के महतोष मोड़ निवासी 2 युवक महाराष्ट्र के मुम्बई में रहते थे। वो वहां ऑटो चलाते थे। तीन मई को दोनों अपने ऑटो से घर को निकले थे। 7 मई की सुबह दोनों ऊधमसिंह नगर बॉर्डर पर पहुंचे तो पुलिस ने उनके मुम्बई से आने की जानकारी पर उन्हें पंतनगर विवि में बने क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया। उसी दिन उन्हें जिला अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड भेज दिया गया था। यहां से उनके सैम्पल जांच को भेजे गये। लेकिन 8 मई को अस्पताल से दोनों को सामान्य बताकर घर भेज दिया गया
इधर 9 मई को दोनों की रिपोर्ट आयी, जिसमें उनके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। इससे स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गयी। आनन फानन में टीम भेजकर दोनों युवकों को उनके घरों से वापस आइसोलेशन वार्ड में लाया गया। इसके अलावा उनके 6 परिजनों को भी आइसोलेट कर दिया गया।

Also Read  उत्तराखंड में आज फिर तेजी से बढ़े कोरोनावायरस के नए मामले, जानिए ताजा आंकड़े

सूचना मिलने पर डीएम डॉ नीरज खैरवाल ने कोविड 19 जिला नोडल अधिकारी बंशीधर तिवारी से जवाब तलब किया है। डीएम ने कहा है कि लापरवाही करने वालों पर कठोर कार्रवाई होगी।
उधर, एक कोरोना पॉजिटिव के भाई का वीडियो भी वायरल होने से प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ गई है। युवक का यह वीडियो शनिवार का है, जब उसे और उसके परिजनों को अस्पताल ले जाया जा रहा था। वीडियो में युवक दावा कर रहा है कि उसके भाई और मामा को अस्पताल के डॉक्टरों ने ही घर भेज दिया था। वह गलत जानकारी देने वाले डॉक्टरों पर कार्रवाई की भी मांग करता दिख रहा है। वायरल वीडियो में युवक अपने भाई और 2 मामाओं के महाराष्ट्र से लौटने की बात कह रहा है, जबकि शनिवार को दो ही लोगों की जानकारी प्रशासन की ओर से दी गई थी। ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि तीसरा शख्स कहाँ है?
दिनेशपुर/गदरपुर। गदरपुर के दो युवकों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद अधिकारियों पर सवाल खड़े हो गये हैं। संजयनगर के पूर्व प्रधान और वर्तमान प्रधान के प्रतिनिधि नबी जान का कहना है कि महाराष्ट्र से लौटे दो युवकों को घर भेज दिया गया। यही दोनों लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। पूर्व प्रधान का कहना है कि अस्पताल से लोगों को इस तरह घर भेजना बड़ी लापरवाही है। उनहोंने मामले की जांच की मांग की है।

Also Read  एक ही परिवार के चार सदस्यों ने एक साथ लगाई फांसी, जानिए दिल दहला देने वाली घटना की वजह

परिजनों को आइसोलेशन वार्ड पहुंचाया lदो युवकों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद पुलिस और स्वास्थ्य विभाग हरकत में आये। थानाध्यक्ष जसविन्दर सिंह, महतोष चौकी प्रभारी ललित बिष्ट चिकित्सकों की टीम के साथ गांव पहुंचे। गांव में सबसे पहले दोनों युवकों के परिजनों की स्क्रीनिंग और जांच की गयी। इसके बाद यहां से छह लोगों को रुद्रपुर जिला अस्पताल में बनाये गये आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया। इस दौरान इन युवकों के घरों और आसपास के कुछ और घरों को सील कर नोटिस चस्पा कर दिये गये। लोगों से एहतियात बरतने की अपील की गयी है। दोनों जिन लोगों के संपर्क में आये थे, उनकी तलाश की जा रही है। अन्य लोगों को भी घरों से नहीं निकलने की हिदायत दी गयी है।

Also Read  Uttarakhand News: अब टेक्नोलॉजी से आएगी महिलाओं से सोशल मीडिया पर अभद्रता करने वालों की शामत, पहचान कर होगी कार्रवाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here