Uttarakhand Big News: इस जिले में 1 दिन में 55 कोरोना मामले। 1400 लोगों के साथ आए थे एक ही ट्रेन में।

सरकार द्वारा लॉक डाउन की आकस्मिक घोषणा से सारे लोग जहां थे वहीं रहने को मजबूर हो गए थे ऐसे में लॉक डाउन 3 के दौरान दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को उत्तराखंड लाने के लिए राज्य सरकार ने जो जतन शुरू किए , उसके गंभीर नतीजे दिख रहे हैं। सरकार की मंशा तो अच्छी थी, लेकिन किसने सोचा था कि प्रवासियों के साथ कोरोना संक्रमण भी पहाड़ चढ़ जाएगा।

3 मई से पहले तक उत्तराखंड के 10 जिले ग्रीन जोन में थे। अब सूबे का हर जिला कोरोना संकट से जूझ रहा है। कोरोना से अब तक अछूते रहे रुद्रप्रयाग जिले में भी 3 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं।

Also Read  देहरादून में सरेआम बेखौफ बदमाशों ने सर्राफ को गोली मार कर लूट को दिया अंजाम

शनिवार को नैनीताल जिले में 55 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए I मामला सामने आने के बाद प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं। जिन लोगों में कोरोना संक्रमण मिला है वो सभी महाराष्ट्र से ट्रेन में सवार होकर हल्द्वानी आए थे। बाद में यहां से बस के जरिए हल्द्वानी पहुंचाए गए।

जिस ट्रेन से ये लोग आए थे उसमें कुल 1400 लोग सवार थे। ऐसे में सोचिए 55 कोरोना संक्रमितों के साथ आने वाले ये लोग इस वक्त कितने बड़े खतरे से जूझ रहे होंगे। ना जाने कहां-कहां गए होंगे। किससे मिले होंगे। इतनी बड़ी तादाद में लोगों को ट्रेस कर पाना प्रशासन के लिए भी बड़ी चुनौती है।

Also Read  उत्तराखंड: खेलते खेलते बुझ गया घर का इकलौता नन्हा चिराग, घर के बाहर ही हुई मासूम की दर्दनाक मौत

शनिवार को उत्तराखंड में मिले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ने पिछला हर रिकॉर्ड पीछे छोड़ दिया। आज कोरोना के कुल 91 पॉजिटिव केस सामने आए। जिनमें 57 केस नैनीताल जिले के हैं। रुद्रप्रयाग में 3, पौड़ी में दो, चंपावत में 7, देहरादून में नौ, अल्मोड़ा में तीन, पिथौरागढ़ में दो, उत्तरकाशी में तीन और ऊधमसिंहनगर में तीन कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। इसके साथ ही अब राज्य में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 244 हो गई है।

Also Read  उत्तराखंड: खेलते खेलते बुझ गया घर का इकलौता नन्हा चिराग, घर के बाहर ही हुई मासूम की दर्दनाक मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here