Uttarakhand: 14 दिन के क्वॉरेंटाइन से लौट रहे युवक की भीषण हादसे में दर्दनाक मौत।

लॉक डाउन के दौरान भी उत्तराखंड में आए दिन दुर्घटना की खबरें सुनने में आ रही है। इनमें से कुछ सड़क दुर्घटनाएं तो ऐसी है जिनमें लोगों ने अपनी जान तक गंवा दी है।

ताजा सड़क दुर्घटना की खबर गोपेश्वर के चमोली से आ रही है।

हाल ही में चमोली में नारायणबगड़ से चिंडिगा गांव सिलोडी जा रहा एक बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वाहन में सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि उनमें से एक मृतक लॉकडाउन के दौरान चंडीगढ़ से अपने गांव के लिए आते वक्त भराड़ीसैंण में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन हुआ था। वह 14 दिन की अवधि पूरी करके अपने गांव वापस जा रहा था। वो खुश की क्योंकि अपने गांव पहुंचने वाला था। मगर गांव पहुंचने से पहले ही बीच रास्ते में उसकी मृत्य हो गई। राजस्व पुलिस ने मौके पर पहुंच के दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार विक्रम सिंह गांव सिलोरी का मूल निवासी था और चंडीगढ़ में रहता था। हाल ही में वह लॉकडाउन के दौरान चंडीगढ़ से अपने गांव सिलोडी वापस लौट रहे थे। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर विक्रम को प्रशासन ने भराड़ीसैंण में 14 दिनों तक क्वारंटाइन कर दिया था। 14 दिन बाद जांच में वह पूरी तरह से स्वस्थ्य मिला जिसके बाद उनको घर वापसी की अनुमति मिल गई। नारायणबगड़ से विक्रम बोलेरो में अपने गांव वापस लौट रहा था। वाहन में चालक दिनेश सिंह और विक्रम ही मौजूद थे। रास्ते मे तलसारी चट्टान के पास बोलेरो ने अपना नियंत्रण खो दिया और 500 मीटर नीचे खाई में गिर पड़ी। हादसा इतना भीषण था कि वाहन के परखच्चे उड़ गए वहीं वाहन चालक दिनेश सिंह और वाहन में सवार विक्रम ने दुर्घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए गए हैं। गांव में मृत्यु का दुखद समाचार सुनकर चारों ओर शोक का माहौल है।

Also Read  छोटी सी बात पर युवक ने की ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या, पूरे परिवार को मारना चाहता था युवक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here